Best Barish Shayari | New Rain Status 

Shayari 🌧️☔

ये ही एक फर्क है तेरे और मेरे शहर की बारिश में, तेरे यहाँ ‘जाम’ लगता है, मेरे यहाँ ‘जाम’ लगते हैं।

न जाने क्यू अभी आपकी याद आ गयी, मौसम क्या बदला बरसात भी आ गयी, मैंने छुकर देखा बूंदों को तो, हर बूंद में आपकी तस्वीर नज़र आ गयी ।

मोहब्बत तो वो बारिश है जिससे छूने की चाहत मैं ! हथेलियां तो गीली हो जाती है पर हाथ खाली ही रह जाते है !!

कुछ नशा तेरी बात का है कुछ नशा धीमी बरसात का है हमे तुम यूँही पागल मत समझो यह दिल पर असर पहली मुलाकात का है

आशिक तो आँखों की बात समझ लेते हैं, सपनो में मिल जाये तो मुलाकात समझ लेते हैं, रोता तो आसमान भी है अपने बिछड़े प्यार के लिए, पर लोग उसे बरसात समझ लेते हैं।

बारिश के पानी को अपने हाथों में समेट लो, जितना आप समेट पाये उतना आप हमें चाहते है, और जितना न समेट पाए उतना हम आप को चाहते है…

आज बादल काले घने हैं आज चाँद पे लाखों पहरे हैं कुछ टुकड़े तुम्हारी यादों के बड़ी देर से दिल में ठहरे हैं

बनके सावन कहीं वो बरसते रहे इक घटा के लिए हम तरसते रहेआस्तीनों के साये में पाला जिन्हें,साँप बनकर वही रोज डसते रहे!

For Barish Shayari And Rain Status, Click Here:

Checkout Next Story...